‘विकसित भारत-विकसित गुजरात’ की संकल्पना को साकार करते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को प्रधानमंत्री आवास योजना(PM Awas Yojana) के 1,31,454 आवासों का करेंगे ई-लोकार्पण और शिलान्यास

आवास प्रदान करने के इस ऐतिहासिक कार्यक्रम से जुड़ेंगे गुजरात के सभी 182 विधानसभा क्षेत्र

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी शनिवार, 10 फरवरी को वर्चुअल माध्यम से प्रधानमंत्री आवास योजना(PM Awas Yojana-PMAY) के 1,31,454 आवासों का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। डीसा शहर में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में गुजरात के मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्र पटेल भी मौजूद रहेंगे। प्रधानमंत्री इस अवसर पर आवास योजनाओं के लाभार्थियों के साथ वर्चुअल तरीके संवाद भी करेंगे।

इस कार्यक्रम में लोकसभा सांसद श्री सी.आर. पाटिल भी विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे। अतिथि विशेष के तौर पर लोकसभा सांसद श्री परबतभाई पटेल और श्री भरतसिंहजी डाभी तथा राज्यसभा सांसद श्री बाबूभाई देसाई भी उपस्थित रहेंगे।

आवास प्रदान करने के इस ऐतिहासिक कार्यक्रम से गुजरात के 115 ग्रामीण निर्वाचन क्षेत्र और 67 शहरी निर्वाचन क्षेत्र जुड़ेंगे, यानी सभी 182 विधानसभा क्षेत्र इस कार्यक्रम में भाग लेंगे।

उल्लेखनीय है कि देश के शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले गरीब एवं मध्यम वर्गीय परिवारों को किफायती दरों पर पक्के मकान उपलब्ध कराने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने वर्ष 2015 में प्रधानमंत्री आवास योजना (PM Awas Yojana-PMAY) शुरू की थी। इस योजना के अंतर्गत पिछले 9 वर्षों में देश के लाखों परिवारों को अपने सपनों का घर मिला है, जिससे उनका जीवन स्तर ऊंचा उठा है। प्रधानमंत्री आवास योजना को गुजरात में भी सफलतापूर्वक लागू किया गया है और देश के अन्य राज्यों के मुकाबले गुजरात इस योजना को कार्यान्वित करने में अग्रणी है।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भारत की आजादी के 100 साल पूरे होने यानी वर्ष 2047 तक के अमृत काल में भारत को एक विकसित राष्ट्र बनाने के लिए ‘विकसित भारत@2047’ का संकल्प दिया है, जिसमें उन्होंने देश के सभी लोगों को पक्का आवास उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा है।

प्रधानमंत्री के विकसित भारत के संकल्प में विकसित गुजरात के निर्माण के जरिए आगे रहने के लिए गुजरात प्रतिबद्ध है।
इस उद्देश्य से मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्र पटेल के मार्गदर्शन में ‘विकसित गुजरात@2047’ का रोडमैप तैयार कर लिया है। गुजरात में भी लोगों को उनके सपनों का घर मिले, इस दिशा में राज्य सरकार कार्यरत है।

इस दिशा में आगे बढ़ते हुए, मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्र पटेल के नेतृत्व में राज्य में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कुल 13.42 लाख से अधिक आवासों का निर्माण पूरा हो चुका है। इनमें से प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत कुल 8.28 लाख आवास, जबकि प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत 5.14 लाख से अधिक आवासों का निर्माण पूरा हो चुका है।

प्रधानमंत्री आवास योजना(c-PMAY) (शहरी)

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत गुजरात राज्य के लिए अनुमानित मांग के अनुसार 7.64 लाख आवासों का लक्ष्य निर्धारित किया गया था, जिसकी तुलना में अब तक कुल 9.61 लाख आवास मंजूर किए गए हैं। इन स्वीकृत आवासों में से लगभग 8.28 लाख आवासों का निर्माण पूरा कर लिया गया है।

चालू वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत 1 लाख से अधिक आवासों का निर्माण पूरा करने का आयोजन किया गया है। इसके अलावा, वर्ष 2024-25 के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत 65,000 से अधिक आवासों का निर्माण पूरा करने की योजना है।

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना (सीएलएसएस) घटक के तहत 5.96 लाख से अधिक लाभार्थियों को उनके पहले आवास पर लिए गए ऋण पर ब्याज सहायता का लाभ प्रदान करने के मामले में गुजरात देश के अन्य राज्यों की तुलना में आगे है।

इसके अलावा, केंद्र सरकार ने वर्ष 2020 में आत्मनिर्भर भारत अभियान के अंतर्गत अफोर्डेबल रेंटल हाउसिंग कॉम्प्लेक्सेज (एआरएचसी) यानी किफायती किराया आवास परिसर योजना के तहत शहरी गरीबों और कामगारों को किराये के सस्ते मकान उपलब्ध कराने की घोषणा की थी। इस घोषणा के तीन महीनों के भीतर ही गुजरात के सूरत शहर के सूडा (सूरत शहरी विकास प्राधिकरण) क्षेत्र में निर्मित 393 आवासों को मॉडल-01 के अंतर्गत किराये के मकानों में तब्दील कर प्रोजेक्ट की मंजूरी प्राप्त करने वाला गुजरात देश का पहला राज्य बन गया।

प्रधानमंत्री आवास योजना(PM Awas Yojana-PMAY) (ग्रामीण)

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की ‘वर्ष 2024 तक सभी को घर’ की संकल्पना को साकार करने के उम्दा लक्ष्य को हासिल करने के हिस्से के रूप में प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में अब तक बुनियादी सुविधाओं के साथ 5,14,170 आवासों का निर्माण किया गया है।

प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत कुल 6,06,041 आवासों को मंजूरी दी गई है, जिनमें से 62 फीसदी आवास महिलाओं के नाम पर या संयुक्त स्वामित्व में मंजूर किए गए हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत कुल 1.20 लाख रुपए की सहायता प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटी) के जरिए सीधे लाभार्थियों के बैंक खाते में भेजी जाती है।

इसके अलावा, राज्य सरकार द्वारा इस योजना के तहत पहली किस्त के भुगतान के बाद छह महीने के भीतर मकान का निर्माण पूरा करने वाले लाभार्थियों को ‘मुख्यमंत्री प्रोत्साहक सहाय योजना’ के तहत प्रति लाभार्थी 20,000 रुपए की प्रोत्साहक राशि की सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना के तहत अब तक कुल 63,101 लाभार्थियों को 126.20 करोड़ रुपए की सहायता का लाभ दिया गया है।
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में गुजरात ने सदैव अग्रणी रहने की परम्परा विकसित की है। इस परम्परा को और अधिक आगे बढ़ाते हुए प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए गुजरात को विभिन्न श्रेणियों में राष्ट्रीय स्तर के अवॉर्ड मिले हैं।

प्रधानमंत्री आवास योजना(PM Awas Yojana-PMAY) (शहरी) के लिए गुजरात को अब तक कुल 14 अवॉर्ड मिले

वर्ष-2017 में केंद्र सरकार द्वारा गुजरात को क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना (सीएलएसएस) के तहत प्रथम पुरस्कार, वर्ष 2019 में केंद्र सरकार द्वारा पीएम आवास के लिए तीन अवॉर्ड तथा लाभार्थी-आधारित व्यक्तिगत आवास निर्माण (बीएलसी) घटक के अंतर्गत गुजरात राज्य के 3 लाभार्थियों को बेस्ट हाउस कंस्ट्रक्शन श्रेणी में अवॉर्ड दिए गए। वर्ष 2022 में केंद्र सरकार द्वारा गुजरात को प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के लिए विभिन्न 7 श्रेणियों में अवॉर्ड से नवाजा गया।

इस तरह, प्रधानमंत्री आवास योजना(PM Awas Yojana-PMAY) (शहरी) के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा गुजरात को अब तक कुल 14 अवॉर्ड प्रदान किए गए हैं।
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दी गई ‘विकसित भारत’ की संकल्पना में मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्र पटेल के नेतृत्व में ‘विकसित गुजरात@2047’ की दिशा इस आवास लोकार्पण-शिलान्यास से और अधिक तेज बनेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *